मोदी का मास्टरस्ट्रोक / मालदीव का हो गया मोये मोये

PM visits pristine beautiful beaches at Bangaram, in Lakshadweep on January 04, 2024.

लक्षद्वीप :देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लक्षद्वीप का दौरा किया कि इस केंद्र शासित राज्य में पर्यटन को नए पर लग गए। ऑल इंडिया टूर एंड ट्रेवल ऑपरेटर एसोसिएशन( एआईटीटीओए) के मुताबिक बीते तीन दिनों में उनके पास लक्षद्वीप को लेकर जितनी बुकिंग को लेकर कॉल आई हैं उतनी आज तक कभी नहीं पहुंची। अनुमान के मुताबिक अगले तीन महीने के भीतर बीते तीन दिनों में ही बहुत से लोग लक्षद्वीप जाने की बुकिंग करा चुके हैं। लक्षद्वीप का पर्यटन और स्पोर्ट्स विभाग भी अपने राज्य में आने वाले पर्यटकों के लिहाज से तैयारियों में जुट गया है। हालांकि लक्षद्वीप अभी भी हवाई मार्ग से सिर्फ केरल से ही जुड़ा है। एआईटीटीओए ने मांग भी की है कि प्रधानमंत्री की विजिट के बाद अब देश के प्रमुख राज्यों से लक्षद्वीप सीधे तौर पर जुड़ेगा और वहां का पर्यटन बढ़ेगा। वह कहते हैं कि उनके संगठन से जुड़े टूर ऑपरेटर के पास पूरे देश से तकरीबन 7000 से ज्यादा बुकिंग सिर्फ लक्षद्वीप के लिए हुई हैं।
सोशल मीडिया पर मालदीव बॉयकॉट ट्रेंड कर रहा है। लगातार दो दिनों तक लक्षद्वीप गूगल पर सबसे अधिक सर्च किया गया कीवर्ड बना रहा। ऐसे में मालदीव की मंत्री का भारत के खिलाफ एक आपत्तिजनक ट्वीट आया। प्रधानमंत्री की तस्वीरों से मालदीव के पर्यटन उधोग को झटका लगा। कभी पर्यटकों का पसंदीदा गंतव्य रहा करता था मालदीव। लेकिन भारत के लोगों ने मालदीव ना जाकर लक्षदीव पर्यटन पर दिलचस्पी दिखाई। और मालदीव के पर्यटन उद्योग को बड़ा झटका लगा जो उसके राजस्व का सबसे बढ़ा स्रोत है।

PM visits pristine beautiful beaches at Bangaram, in Lakshadweep on January 04, 2024.

चीन समर्थक मालदीव के राष्ट्रपति मुइज्जू के शासनकाल में आशंका है कि मालदीव में फिर से चीन का दखल बढ़ेगा और भारत से मालदीव के रिश्ते कमजोर हो जाएंगे।

PM visits pristine beautiful beaches at Bangaram, in Lakshadweep on January 04, 2024.

पर्यटन से इतर मालदीव और भारत के रिश्तों में तल्खी प्रमुख कारण मालदीव की नई सरकार का विदेश नीति से जुड़ा फैसला भी है। नयी सरकार का झुकाव चीन की तरफ है। मालदीव ने अपने देश से विदेशी सैनिकों को तैनाती हटाने के फैसले को एक बार फिर दोहराया है, इसमें भारतीय सैनिक भी शामिल हैं। यह इलाका भारत के लिए सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है। हालाँकि सारे मामले पर सफाई देते हुए राष्ट्रपति ने कहा ,’ ये सरकार की भाषा नहीं”, मोदी के खिलाफ टिप्पणी के बाद मालदीव ने तीन मंत्रियों को सस्पेंड किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *